ED Full Form | ED का फुल फॉर्म क्या है?

ED Full Form in Hindi

आइये आज जानते हैं ED Full Form in Hindi क्या है? ED एक आर्थिक खुफिया जांच एजेंसी है। ED का मुख्य कार्य हमारे देश मे वित्तीय से संबंधी Crime मामलो पर नजर रखना एवं उन सभी संपत्तियों से जुड़े हुए मामलों को Investigation करना है जो कि विदेशो से जुड़े हुए है। ईडी का नाम हाई प्रोफाइल केस में अधिकांशतः लिया जाता है। ईडी भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के राजस्व विभाग के अधीन एक विशेष वित्तीय जांच एजेन्सी है। यह एजेन्सी भारत में विदेशी सम्पत्ति मामला, धन-शोधन(Money Laundering), आय से अधिक संपत्ति की जांच करती है।

ED के अधिकारियो का चयन आईएएस (IAS), आईपीएस (IPS), आईआरएस (IRS) रैंक के अधिकारियों में से ही किया जाता है। यह एक गुप्त एजेंसी है, जिसका कार्य वित्तीय सम्बन्धी अपराधों पर पूर्ण रूप से नज़र रखना तथा मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering) भारत में विदेशी संपत्ति तथा अन्य प्रकार की संपत्ति से सम्बंधित मामलो की सही प्रकार से जाँच करना है। आज हम आपको ED के बारे में पूरी जानकरी देने जा रहे है जैसे ED का फुल फॉर्म (ed full form in india) क्या है? ED के कार्यालय कहाँ पर स्तिथ है? ED के कार्य? ED के अधिकार? आइए जानते हैं कि ED Full Form in Hindi क्या है?

ED Full Form in Hindi

ED Full Form in Hindi 

ED का फुल फॉर्म “Directorate of Enforcement” है। और ईडी का हिंदी फुल फॉर्म प्रवर्तन निदेशालय होता है। ED की स्थापना 1 मई 1956 को हुई थी। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। प्रवर्तन निदेशालय वर्तमान समय में फेरा 1973 तथा फेमा 1999 के तहत काम करता है। 1 जून 2000 को फेमा लागू किया गया था फेमा से सम्बंधित सभी मामलें कुछ समय पश्चात ईडी के अधिकार क्षेत्र में ही सम्मिलित कर दिए गए है। प्रवर्तन निदेशालय के पांच प्रमुख कार्यालय  मुंबई, चेन्नई, चंडीगढ़, कोलकाता और दिल्ली में स्थित है।

ED के कार्यालय कहाँ पर स्तिथ है

ED के क्षेत्रीय कार्यालय

  • अहमदाबाद
  • बंगलौर
  • चंडीगढ़
  • चेन्नई
  • कोच्ची
  • दिल्ली
  • पणजी
  • गुवाहाटी
  • हैदराबाद
  • जयपुर
  • जालंधर
  • कोलकाता
  • लखनऊ
  • मुंबई
  • पटना
  • श्रीनगर

ED के उप क्षेत्रीय कार्यालय

  • भुवनेश्वर
  • कोझीकोड
  • इंदौर
  • मदुरै
  • नागपुर
  • इलाहाबाद
  • रायपुर
  • देहरादून
  • रांची
  • सूरत
  • शिमला

ED के कार्य (ed works)

  • अगर किसी व्यक्ति के पास बहुत अधिक मात्रा में अवैध विदेशी मुद्रा है तो उस विदेशी मुद्रा की जांच ED द्वारा की जाती है और दोषी पाए जाने पर उसे दंड भी देती है।
  • विदेशों में किसी भी तरह की संपत्ति खरीदने पर, ED उस संपत्ति की जांच करती है।
  • अगर आप सरकार के अनुमति के बिना विदेशी मुद्रा बेचने का व्यापार शुरू कर देते है, तो ऐसे केस में ED इसकी जांच करती है।
  • अगर किसी व्यक्ति के पास उसकी आय से अधिक धन है तो ऐसी स्थिति में ई.डी. जांच करती है और दोषी पाए जाने पर गिरफ्तार करती है।
  • काले धन को वैध बनाने (money laundering) के मामलें में ED उसकी जांच करती है।
  • बेनामी संपत्ति के मामलों की जांच ई.डी. के द्वारा की जाती है।

ED के अधिकार

  • विदेशी मुद्रा प्रबन्धन अधिनियम के तहत उल्लंघन सम्बन्धी मामलो की जांच का अधिकार प्राप्त है।
  • प्रवर्तन निदेशालय फेमा 1999 तथा फेरा 1973 इन दोनो अधिनियम के अंतर्गत काम करता है।
  • विदेशी संपत्ति पर कार्यवाही तथा रोकने का अधिकार प्राप्त है।
  • मनी लांड्रिंग (Money Laundering) सम्बन्धी अपराधों में जाँच, हिरासत में लेना तथा जानकारी करने का अधिकार प्राप्त है।
  • वित्तीय सम्बन्धी अवैध कार्यो के खिलाफ कार्यवाही का अधिकार प्रवर्तन निदेशालय के पास है।

तो अब आप जान गए होंगे कि ED Full Form in Hindi क्या है? हमने आपको ED के बारे में पूरी जानकरी दी है जैसे ED का फुल फॉर्म (ed full form in english) क्या है? ED के कार्यालय कहाँ पर स्तिथ है? ED के कार्य? ED के अधिकार? उम्मीद है की आपको इस आर्टिकल में ED के बारे में सारी जानकारी मिल गई होगी।

ये भी पढ़े – 

ED का फुल फॉर्म क्या है? सम्बंधित FAQ

ED का फुल फॉर्म क्या है?

ED का फुल फॉर्म “Directorate of Enforcement” है। 

Previous articleNCERT का फुल फॉर्म क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में
Next articleइंस्टाग्राम पर सबसे ज्यादा फॉलोअर्स किसके है 2024 में
My name is Aditi Jain. I am a content writer and love to spend time on the internet. I write content in the Hindi language, I like to write content on the General Knowledge.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here