NRC का फुल फॉर्म क्या है? एनआरसी की पूरी जानकारी

NRC Full Form in Hindi

NRC Full Form in Hindi : आपने अकबरो में एनआरसी के बारे में जरूर पढ़ा होगा या आपने एनआरसी के खिलाफ लोगों का धरना प्रदर्शन न्यूज चैनलो पर जरूर देखा होगा। हम आपको बता दे भारत देश में अवैध रूप रहने वाले लोगों की पेहचान करने के लिए एनआरसी का गठन किया गया था। एनआरसी को अभी केवल असम राज्य में ही लागू किया गया है क्योकि असम राज्य में बहुत सारे बांग्लादेशी लोग गैरकानूनी तरह से रहते है इसलिए असम राज्य में भारतीयों की पेहचान करना और अवैध रूप रहने वाले बांग्लादेशी लोगों की पेहचान करके उन सभी बांग्लादेशी लोगों को भारत के बाहर निकलने के लिए असम राज्य में एनआरसी लागू किया गया है।

आप सभी एनआरसी के बारे में जानते तो होंगे पर आपको एनआरसी का फुल फॉर्म क्या होता है इसके बारे में जानकारी है अगर नहीं तो आज हम आपको एनआरसी क्या है? और एनआरसी के फुल फॉर्म के बारे में सारी जानकरी बताने वाले है तो चलिए शुरू करते है NRC Full Form in Hindi के बारे में?

NRC Full Form in Hindi

NRC का फुल फॉर्म “National Register of Citizens” है। एनआरसी को हिंदी में “भारतीय राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर” कहा जाता है।

N – National
R – Register of
C – Citizens

एनआरसी क्या है?

जैसे की हमने आपको आर्टिकल की शुरूआत में ही आपको बताया था की असम में अवैध रूप से रहने वाले बांग्लादेशी और रोहिंग्या लोगों की पेहचान के लिए साल 1951 में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर की शुरूआत की गई थी। इस रजिस्टर में 25 मार्च 1971 के पहले से असम में रहने वाले भारतीय नागरिकों के नाम है। आपको बता दे केवल असम राज्य में ही राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर को तैयार किया गया है। राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के अनुसार 19 लाख से अधिक लोग जो अवैध रूप से असम में रहते थे उन सभी लोगों को देश से बाहर निकाल दिया गया है। गृह मंत्री अमित शाह ने एनआरसी को पूरे भारत में लागू करने की मांग की है ताकि पूरे भारत देश में अवैध रूप से रहने वाले लोगों को भारत से बाहर निकला जा सके।

भारत में एनआरसी क्यों जरूरी है?

भारत के असम राज्य में 50 लाख से भी ज्यादा लोग अवैध रूप से रहते है। एनआरसी लागू होने पर इन सभी लोगों की जो अवैध रूप से असम में रहते है उनकी पेहचान की जाएगी और उन्हें देश से बाहर निकाल दिया जायेगा। अवैध रूप से रहने वाले लोगों के कारण असम राज्य में आर्थिक समस्याएं बनी हुई है और देश में आतंकी गतिविधि भी बनी रहती है इसलिए एनआरसी के जरिए लोगों की पेहचान करना की कौन भारत का नागरिक है और कौन अवैध रूप से रहता है। एनआरसी को पूरे भारत देश में लागू किया जाना जरूरी है ताकि पूरे भारत में अवैध रूप रहने वाले लोगों की पेहचान की जा सके और उन्हें देश से बाहर निकला जा सके।

एनआरसी में नाम रजिस्टर करवाने के लिए जरूरी दस्तावेज़?

  • जन्म प्रमाण पत्र
  • स्थाई निवास प्रमाण पत्र
  • शैक्षिक प्रमाण पत्र
  • लाइसेंस
  • पासपोर्ट
  • बैंक और पोस्ट ऑफिस में अकाउंट
  • जमीन के दस्तावेज
  • एलआईसीआई बीमा पॉलिसी

एनआरसी से होने वाले फायदे?

  • एनआरसी से अवैध रूप से रहने वाले लोगों की पेहचान करना आसान है।
  • एनआरसी के कारण सरकार से मिलने वाली सुविधा केवल भारत के नागरिक को ही मिलेगी।
  • एनआरसी से देश में होने वाली आतंकी गतिविधि कम होगी।

एनआरसी से होने वाले नुकसान?

  • एनआरसी की सूची में आपका नाम नहीं होने पर आप वोट नहीं डाल सकते।
  • एनआरसी सूची में आपका नाम नहीं होने पर आपको देश से बाहर निकाल दिया जायेगा।
  • सूची में नाम ना होने के कारण सरकार से मिलने वाली सुविधा नहीं मिलेगी।
  • एनआरसी के बाद आपकी संपत्ति पर आपका अधिकार नहीं होगा।

हमने आपको इस आर्टिकल में NRC Full Form in Hindi के बारे में सारी जानकारी दी है। आशा करते है आपको इस आर्टिकल में सारी इनफार्मेशन मिल गई होगी। अगर आपको हमारा आर्टिकल हेल्पफुल लगा हो तो आप इस अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है।

एनआरसी का फुल फॉर्म क्या है? सम्बंधित FAQ

एनआरसी का फुल फॉर्म क्या है?

एनआरसी का फुल फॉर्म “National Register of Citizens” है।

एनआरसी का उद्देश्य क्या है?

एनआरसी का उद्देश्य अवैध रूप से भारत में रहने वाले लोगों को देश से बाहर निकालना है।

ये भी पढ़े –

Previous articleपेट्रोल पंप कैसे खोले 2024 में पूरी जानकारी
Next articleदिल्ली की राजधानी क्या है? | Delhi Ki Rajdhani Kya Hai
My name is Aditi Jain. I am a content writer and love to spend time on the internet. I write content in the Hindi language, I like to write content on the General Knowledge.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here