नाइट्रोजन की खोज किसने की और कब?

आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे कि Nitrogen Ki Khoj Kisne Ki नाइट्रोजन गैस की मात्रा वायुमण्डल सभी गैसों में सबसे ज्यादा है। नाइट्रोजन एक रंगहीन, गंधहीन और स्वादहीन गैस है। रासायनिक दृष्टि से नाइट्रोजन निष्क्रिय तत्व है। नाइट्रोजन गैस  वायुमंडल में आयतन के अनुसार नाइट्रोजन 78 .5 प्रतिशत मात्रा में उपस्थित है। यह सभी प्राणियों के लिए भी अति महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह तत्व जीवों के शरीर में प्रोटीन बनाने वाले अमीनो एसिड तथा डीएनए का निर्माण करने वाले न्यूक्लिक एसिड बनाने में सहायक हैं। मानव शरीर में ऑक्सीजन, कार्बन और हाइड्रोजन के बाद चौथा सबसे अधिक मात्रा में पाया जाने वाला तत्व नाइट्रोजन ही है एवं शरीर के कुल भार में 3 प्रतिशत हिस्सा इसी का है। पृथ्वी के वायुमंडल में नाइट्रोजन कुल मिलाकर लगभग 4,000 ट्रिलियन टन मौजूद है।

साधारण ताप पर न तो यह जलता है और न अन्य धातुओं से यौगिक बनाता है। उच्च ताप पर यह अनेक तत्वों जैसे लीथियम, मैग्नीशियम, कैल्सियम, बोरॉन आदि से क्रिया कर नाइट्राइड पदार्थ यौगिक बनती है ऑक्सीजन को रासायनिक क्रिया अथवा भौतिक साधनों द्वारा अलग करके इसके नाइट्रोजन गैस को वायुमंडल से भी तैयार कर सकते हैं। इसका क्वथनांक ऑक्सीजन से नीचा है। नाइट्रोजन का रासायनिक सूत्र N है। नाइट्रोजन एक अक्रिय गैस है जो अपने आप कोई क्रिया नही करती है। आइए जानते हैं कि Nitrogen Ki Khoj Kisne Ki?

नाइट्रोजन की खोज किसने की

नाइट्रोजन खोज 1772 में स्कॉटलैण्ड के वैज्ञनिक डेनियल रदरफोर्ड ने की थी डेनियल ने शीले के साथ मिलकर पहली बार 1772 में नाइट्रोजन को मुक्त रूप में पाया। उसी वर्ष स्कील ने स्थापित किया कि हवा में मुख्य रूप से दो गैसें मौजूद हैं, एक सक्रिय और दूसरी निष्क्रिय। है। तब प्रसिद्ध फ्रांसीसी वैज्ञानिक लवाज़े ने ऑक्सीजन से नाइट्रोजन गैस को अलग किया और नाइट्रोजन को एज़ोट नाम दिया। 1790 में Schaptal ने इसे नाइट्रोजन नाम दिया।

Nitrogen के भौतिक गुण

  • नाइट्रोजन एक रंगहीन, गंधहीन और स्वादहीन गैस है।
  • इसका अणु दो परमाणुओं का बनता है। इसका संकेत N है।
  • नाइट्रोजन की परमाणु संख्या 7 है।
  • परमाणु भार 14.007, गलनांक 210° सें. क्वथनांक 195.8° सें. घनत्व 1.25 ग्राम प्रति लीटर है।
  • इसका क्रांतिक ताप 147° सें. 0° सें. तथा सामान्य दबाव पर जल में विलेयता 23.5 घन सेंमी. प्रति लीटर है।
  • Nitrogen निष्क्रिय गैस है साधारण ताप पर न तो यह जलता है और न अन्य धातुओं से यौगिक बनाता है।
  • यह गैस गंधक, फॉस्फोरस तथा अनेक तत्वों एवं यौगिकों के साथ अभिक्रिया करती है।
  • Nitrogen को वायुमंडल से भी तैयार कर सकते हैं, जिसमें ऑक्सीजन को रासायनिक क्रिया अथवा भौतिक साधनों द्वारा अलग करना होता है।

नाइट्रोजन के रासायनिक गुण

  • संकेतकों का रंग नाइट्रोजन से प्रभावित नहीं होता है क्योंकि यह एक तटस्थ गैस है जो नाइट्रोजन की रासायनिक संपत्ति में से एक है।
  • नाइट्रोजन अन्य तत्वों के साथ मिलकर कुछ तापमान के तहत कुछ यौगिकों का निर्माण कर सकता है जो नाइट्रोजन की रासायनिक संपत्ति में से एक है।
  • उच्च तापमान या कम तापमान पर नाइट्रोजन जैविक गतिविधि के माध्यम से यौगिक बना सकती है जो उत्प्रेरक के रूप में कार्य कर सकती है।
  • ऑक्सीजन के अनुसार नाइट्रोजन के साथ-साथ नाइट्रिक एसिड बनाती है।
  • जब नाइट्रोजन को हाइड्रोजन के साथ जोड़ा जाता है तो यह अमोनिया बनाता है और सल्फर के साथ यह नाइट्रोजन सल्फाइड बनाता है।
  • नाइट्रोजन को उच्च तापमान पर कुछ धातुओं के साथ मिलाया जाता है, जो सक्रिय धातुओं जैसे कि लिथियम और मैग्नीशियम बनाती है।

Nitrogen का उपयोग

  • नाइट्रोजन गैस का उपयोग आइसक्रीम बनाने में किया जाता है।
  • बिजली के बल्बों में नाइट्रोजन भरने से उनकी जीवन अवधि बढ़ जाती है।
  • Nitrogen टायरो में भरवाने से वो फटते नही है।
  • निष्क्रिय वातावरण बनाने में नाइट्रोजन का उपयोग किया जाता है।

नाइट्रोजन से जुड़े रोचक तथ्य

  • नाइट्रोजन की खोज 1772 में स्कॉटिश चिकित्सक डैनियल रदरफोर्ड के द्वारा की गई।
  • नाइट्रोजन का सबसे महत्वपूर्ण खनिज नाइट्रेट है।
  • नाइट्रोजन में 3 या 5 की वैलेंस होती है।
  • नाइट्रोजन ब्रह्मांड में पांचवां सबसे प्रचुर तत्व है।
  • 16वीं से 18वीं सदी तक नाइट्रोजन को दुनिया के कई भाषाओं, जैसे- फ्रेंच, इटालियन, पुर्तगाली, पोलिश, रशियन, अल्बानियाई, तुर्कीयाई आदि में azote के नाम से जाना जाता था।
  • नाइट्रोजन की परमाणु संख्या 7 है तथा इसके एक परमाणु में इलेक्ट्रॉनों की संख्या भी 7 ही होती हैं।

तो अब आप जान गए होंगे कि कि Nitrogen Ki Khoj Kisne Ki नाइट्रोजन खोज 1772 में स्कॉटलैण्ड के वैज्ञनिक डेनियल रदरफोर्ड ने की थी डेनियल ने शीले के साथ मिलकर पहली बार 1772 में नाइट्रोजन को मुक्त रूप में पाया।

ये भी पढ़े-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here