साइकिल का आविष्कार किसने किया था और कब हुआ

आज आप इस आर्टिकल में जानेंगे कि Cycle Ka Avishkar Kisne Kiya पहले के समय में साइकिल का उपयोग दुनियाभर में  सभी लोग करते थे। साइकिल एक सस्ता और बिना प्रदूषण वाला वाहन है। साइकिल इस्तेमाल करने में हमे ईंधन नही लगता है। हालाकि आज के समय में बहुत कम लोग साइकिल का इस्तेमाल करते हैं। आज के समय में नई मॉडल की बाइक, कार आदि मार्केट में आ गयी है लेकिन आज के मॉडर्न व्हीकल की शुरुआत कहीं न कहीं साइकिल से ही हुई थी।

आज पूरी दुनिया वायु प्रदूषण से जूझ रही है क्योंकि आज के व्हीकल पेट्रोल और डीज़ल से चलते है जो की वायु प्रदूषण करते है। वहीं साइकिल एक ऐसा साधन है जिसके इस्तेमाल करने से पर्यावरण प्रदूषित नहीं होता है और इसके इस्तेमाल करने से सेहत को भी फायदा होता है। हालाकि अब इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल भी आ गए हैं जिनसे किसी भी प्रकार का वायु प्रदूषण नहीं होता है। आपने भी कभी न कभी साइकिल का उपयोग किया होगा। आपके दिमाग में ये सवाल जरूर आया होगा की साइकिल का आविष्कार किसने किया था। आइए जानते हैं कि Cycle Ka Avishkar Kisne Kiya?

साइकिल का आविष्कार किसने किया था

साइकिल का आविष्कार जर्मनी के वन अधिकारी Karl Von Drais ने किया था। दुनिया की इस पहली साइकिल का Invention आज से लगभग 200 साल पहले यानी 1817 में हुआ था। Karl Von Drais यूरोप के बाइडेर्मियर काल के एक प्रसिद्ध आविष्कारक थे साइकिल के अलावा उन्होंने और भी चीजों का इजात किया था।

cycle ka avishkar kisne kiya tha

साल 1812 में कागज पर पियानो संगीत रिकॉर्ड करने वाला एक उपकरण, 1817 में सामान ले जाने के लिए साइकिल, साल 1821 में कीबोर्ड वाला शुरूआती टाइपराइटर, साल 1827 में 16 अक्षरों वाली स्टेनोग्राफ मशीन और दुनिया की पहली मीट ग्राइंडर यानी कीमा बनाने की मशीन बनाने का श्रेय भी कार्ल वॉन ड्रेस को जाता है।

कार्ल वॉन ने साइकिल बिना पेडल की बनाई थी और यह लकड़ी की साइकिल थी। इस साइकिल का वजन लगभग 23 किलोग्राम की थी। पेडल न होने की वजह से इस साइकिल को धक्का लगाकर चलाया जाता था।  कार्ल वॉन ने जर्मनी के दो शहर रिनाऊ और मैनहेम में पुरे शहर में चलाकर प्रदर्शित किया। यह साइकिल एक घंटे में लगभग 7 किलोमीटर की दुरी तय कर पाती थी।

साइकिल का आविष्कार कैसे और कब हुआ

आपको बता दे साल 1815 में इंडोनेशिया स्थित माउंट टैम्बोरा ज्वालामूखी में बहुत बड़ा विस्फोट हुआ जिससे उत्तरी गोलार्ध के देशो में काफी प्रभाव पड़ा। इससे दुनियाभर के देशों में तापमान में भारी गिरावट देखी गयी इसका सबसे अधिक प्रभाव उत्तरी गोलार्ध के देशों में हुआ जहाँ पूरी फसलें ख़राब हो गयी थी। जिससे भुखमरी जैसे हालात पैदा हो गए थे इससे काफी संख्या में पालतू जानवरों की मृत्यु हो गयी थी चूँकि उस समय पालतू जानवरों का इस्तेमाल यातायात और सामान ढोने में किया जाता था। ऐसे में इनकी मृत्यु को देखते हुए पालतू जानवरों के सामान ढोने के विकल्प के रूप में साइकिल का आविष्कार किया गया था।

कार्ल वॉन ने साइकिल बिना पेडल की बनाई थी और यह लकड़ी की साइकिल थी। इस साइकिल का वजन लगभग 23 किलोग्राम की थी। पेडल न होने की वजह से इस साइकिल को धक्का लगाकर चलाया जाता था। कार्ल वॉन ने जर्मनी के दो शहर रिनाऊ और मैनहेम में पुरे शहर में चलाकर प्रदर्शित किया। यह साइकिल एक घंटे में लगभग 7 किलोमीटर की दुरी तय कर पाती थी।

वर्तमान की साइकिल का आविष्कार कब हुआ

साइकिल का आविष्कार जर्मनी के वन अधिकारी Karl Von Drais ने किया था उन्होंने बिना पेडल की साइकिल बनाई थी। इसके बाद  दुनिया की पहली पेडल वाली साइकिल साल 1863 में फ्रांस के एक मैकेनिक Pierre Lallement द्वारा बनायी गयी थी इन्होने अगले पहिये में पैडल लगाया था।

cycle ka avishkar kisne kiya tha

आज की साइकिल में पैडल इसके बीच में होता है जो एक चैन के द्वारा पिछले पहिये से जुड़ा हुआ होता है और इस तरह की डिजाइन कई प्रयोगों के बाद आई थी जॉन कैंप ने ही साल 1885 में पहली बार आज की तरह दिखने वाली साइकिल को बाजार में लाये थे।

भारत में साइकिल का आविष्कार कब हुआ

भारत में साइकिल का आविष्कार कब हुआ 1942 में एक हिन्द साइकिल नाम की कंपनी द्वारा शुरू किया गया था। इससे पहले भारत में कोई साइकिल नहीं बनाई जाती थी। इससे पहले भारत में दूसरे देशो से साइकिल को इम्पोर्ट किया जाता था। लेकिन मुंबई स्थित हिन्द साइकिल कंपनी के द्वारा साइकिल का निर्माण शुरू करने के बाद लोग स्वदेशी साइकिल का ज्यादा इस्तेमाल करने लगे। वर्तमान में चीन के बाद भारत में ही सबसे ज्यादा साइकिल बनाई जाती हैं।

तो अब आप जान गए होंगे कि Cycle Ka Avishkar Kisne Kiya साइकिल का आविष्कार जर्मनी के वन अधिकारी Karl Von Drais ने किया था। दुनिया की इस पहली साइकिल का Invention आज से लगभग 200 साल पहले यानी 1817 में हुआ था। भारत में साइकिल का आविष्कार कब हुआ 1942 में एक हिन्द साइकिल नाम की कंपनी द्वारा शुरू किया गया था।  उम्मीद है की आपको इस आर्टिकल में सारी जानकारी मिल गई होगी।

ये भी पढ़े-

साइकिल का आविष्कार सम्बंधित FAQ

साइकिल का हिंदी नाम क्या है?

साइकिल का हिंदी नाम द्विचक्रिका, दिव्चक्र है।

भारत में साइकिल का आविष्कार कब हुआ?

भारत में साइकिल का आविष्कार 1942 में हुआ था।

भारत में पहली बार किस कंपनी की साइकिल आई?

भारत में पहली बार साइकिल हिन्द कंपनी की आई थी।

My name is Ashish Shriwas. I am an engineer. I work in an IT company. I write on topics like technology, mobile, app.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here