Telephone का आविष्कार किसने और कब किया?

आज आप इस आर्टिकल में जानेंगे कि Telephone Ka Avishkar Kisne Kiya टेलीफोन को हिंदी में दूरभाष या दूरभाषी यंत्र कहते हैं। Telephone एक ऐसा उपकरण है जिसकी मदद से दो या दो से अधिक लोग दुनिया के अलग-अलग देशों में बैठकर भी एक-दूसरे से बात कर सकते हैं। आज भले ही मोबाइल फोन दूर संचार का सबसे आधुनिक साधन बन गया है लेकिन मोबाइल फोन की शुरुआत भी टेलीफोन के एडवांस रूप वायरलेस टेलीफोन से ही हुई है। टेलीफोन विज्ञान की ऐसी महत्वपूर्ण खोजों में से एक है जिसने 21वीं सदी में दूरसंचार का रूप ही बदल डाला है। आज जिस स्मार्टफ़ोन और मोबाइल का हम प्रयोग कर रहे है वह पहले कभी टेलीफोन का ही रूप हुआ करता था।

स्मार्टफ़ोन की मदद से हम एक दुसरे से बात करने के अलावा भी बहुत कुछ कर सकते है जैसे की गेम खेल सकते है, इंटरनेट चला सकते है, फोटो तथा विडियो मेसेज भेज सकते है, विडियो कॉल कर सकते है, गाने सुन सकते है, मूवी देख सकते है, सोशल मीडिया का भी उपयोग स्मार्टफ़ोन पर किया जा सकता है जो टेलीफोन पर कभी मुमकिन नहीं था। पुराने समय में लोग अपना संदेश भेजने के लिए चिट्ठियों का इस्तेमाल करते थे। परंतु जब से टेलीफोन का आविष्कार हुआ है। कोई भी व्यक्ति किसी भी दूसरे व्यक्ति से चाहे वह दुनिया के किसी कोने में बैठा हो उससे बात कर सकता है। आप सभी ने टेलीफोन से कभी ना कभी बात जरूर की होगी पर आपने कभी ये सोचा है की टेलीफोन का अविष्कार किसने किया है? आइए जानते हैं कि Telephone Ka Avishkar Kisne Kiya?

Telephone Ka Avishkar Kisne Kiya

टेलीफोन का आविष्कार किसने किया

स्कॉटिश वैज्ञानिक अलेक्जेंडर ग्राहम बेल (Alexander Graham Bell) ने टेलीफोन का आविष्कार 2 जून, 1875 में किया था। टेलीफोन के आविष्कार में अलेक्जेंडर ग्रह बेल ने टॉमस वॉटसन की सहायता ली थी। इसके बाद 7 मार्च 1876 को अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने इस आविष्कार को अपने नाम पर पेटेंट करवा लिया और वह इसके आधिकारिक अविष्कारक बन गए। ग्राहम बेल ने अपने सहायक से जो पहला शब्द बोला वह था मिस्टर वाटसन, यहाँ आओ, मैं तुम्हें देखना चाहता हूँ यह आविष्कार धीरे-धीरे अमेरिका में फैलने लगा और 1880 तक अमेरिका में 49,000 से ज्यादा टेलीफोन लग चुके थे, जो ग्राहम बेल के लिए एक बड़ी उपलब्धि थी।

आपको बता दे कि अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने सिर्फ टेलीफोन का ही आविष्कार नहीं किया उन्होंने इसके अलावा और भी बहुत सी टेक्नोलॉजी का आविष्कार किया था जैसे कि बैल, फोटो फोन, मेटल डिटेक्टर, ऑप्टिकल फाइबर सिस्टम, डेसिमल यूनिट जैसे कई आविष्कार किए हैं। परंतु उनकी मुख्य पहचान टेलीफोन के आविष्कारक के रूप में ही की जाती है।

वैज्ञानिक अलेक्जेंडर ग्राहम बेल का जन्म 3 मार्च 1847 को स्कॉटलैंड में हुआ था। ग्राहम बेल के पिता एक प्रोफेसर थे जबकि उनकी माँ एक गृहिणी थीं। ग्राहम बेल की माँ और पत्नी दोनों बहरे थे, शायद इसका कारण यह था कि ग्राहम बेल को ध्वनिविज्ञान में इतनी दिलचस्पी थी। उन्होंने टेलीफोन के आविष्कार के बाद ही प्रसिद्धि प्राप्त की लेकिन उनके अन्य आविष्कारों में मेटल डिटेक्टर, ऑडियोमीटर, फोटोफोन, हाइड्रोफिल और एयरोनॉटिक्स शामिल थे।

टेलीफोन का इतिहास

टेलीफोन का आविष्कार अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने किया था परंतु आप यह गूगल पर सर्च करोगे तो आपको 3 और नाम भी दिखाई देंगे जिसमें से पहले नाम अलेक्जेंडर ग्राहम बेल का है लेकिन दूसरा और तीसरा नाम Antonio Meucci और Amos Dolbear का है। टेलीफोन के आविष्कार में अलेक्जेंडर ग्राहम बेल के साथ-साथ Charles Grafton Page, Charles Bourseul, Innocenzo Manzetti, Johann Philipp Rise, Elisha Gray, Antonio Meucci जैसे कई नाम शामिल है। इन सभी वैज्ञानिकों ने अविष्कार में अपना योगदान दिया है| लेकिन जितना योगदान अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने दिया है उतना योगदान और कोई भी अन्य वैज्ञानिक नहीं दे सका था। Amos Dolbear ने Sound Waves और Electrical Impulses का इलेक्ट्रिकल स्पार्क के रूपांतरण के बारे में खोज की थी।

Bell के इस अविष्कार पर ज्यादा लोगों ने ध्यान नहीं दिया था। इसलिए उन्होंने लोगों की नजरों में इस अविष्कार की खासियत समझाने के लिए एक यंत्र के सार्वजनिक प्रदर्शन की तैयारी की। इस प्रदर्शनी में Bell ने टेलीफोन का पहला प्रदर्शन 10 मई ,1876 में वोस्टन में American Academy of Science में किया था। इस समारोह में Bell के प्रदर्शन की चर्चा होने लगी। लेकिन कोई भी टेलीग्राफ Companies उनके इस प्रदर्शन को व्यावसायिक रूप से बाजार में उतारने के लिए तैयार ही नहीं थी।

शायद उन सभी लोगों को यह डर था कि Bell के अविष्कार को यदि बाजार में उतारा गया तो उनके Telegraph यंत्र की मांग कम हो जाएगी। फिर Bell and Thomas दोनों ही Telegraph के माध्यम से  आवाज को 13 किलोमीटर दूर तक पहुंचाने में सफल रहे। और साल के अंत तक उन्होंने इस दूरी को 229 तक बढ़ा दिया। पर इतने के बावजूद भी कोई भी Telegraph Company’s सार्वजनिक रूप से टेलीफोन के उपयोग को लेकर बढ़ावा देने के लिए तैयार ही नहीं थे। इसके बाद Bell ने अपने नाम पर एक Telephone Company खोलने का निर्णय लिया। और आज Bell के द्वारा खोली गई ऐतिहासिक Company AT And T के नाम से प्रसिद्ध है। और विश्व भर में अपने दूरसंचार के साधनों के लिए जानी जाती है। बीते कुछ सालों में Bell ने दूरसंचार के क्षेत्र में बहुत महत्वपूर्ण अनुसंधान भी किए थे।

तो अब आप जान गए होंगे कि Telephone Ka Avishkar Kisne Kiya टेलीफोन को हिंदी में दूरभाष या दूरभाषी यंत्र कहते हैं। अलेक्जेंडर ग्राहम बेल (Alexander Graham Bell) ने टेलीफोन का आविष्कार 2 जून, 1875 में किया था। टेलीफोन के आविष्कार में अलेक्जेंडर ग्रह बेल ने टॉमस वॉटसन की सहायता ली थी। इसके बाद 7 मार्च 1876 को अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने इस आविष्कार को अपने नाम पर पेटेंट करवा लिया और वह इसके आधिकारिक अविष्कारक बन गए।

ये भी पढ़े-

टेलीफोन का आविष्कार सम्बंधित FAQ

टेलीफोन का आविष्कार किसने किया था?

टेलीफोन का आविष्कार 2 जून 1875 में स्कॉटिश वैज्ञानिक अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने किया था।

My name is Ashish Shriwas. I am an engineer. I work in an IT company. I write on topics like technology, mobile, app.