Mobile का अविष्कार किसने और कब किया था

आज आप जानेंगे कि Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya आज के डिजिटल समय में शायद ही कोई व्यक्ति ऐसा होगा जो मोबाइल का उपयोग नहीं करता होगा। आज मोबाइल सभी की जरूरत बन चुका है। मोबाइल फ़ोन लोगों के दिनचर्या का हिस्सा बन चुका है। आज कई फीचर्स वाले नए स्मार्टफोन लॉन्च हो रहे है जिसका उपयोग करके लोगों का काम काफी आसान हो गया है। आज के समय में मोबाइल फोन एक जगह से दूसरी जगह बात करने का जरिया ही नहीं बल्कि हम जो काम पहले लैपटॉप, कंप्यूटर में करते थे उस तरह के सभी काम आज हम मोबाइल फोन में कर सकते है। आज की नई पीढ़ी के बच्चें ग्राउंड में जाकर गेम्स नहीं खेलते बल्कि स्मार्टफोन में हैवीग्राफिक्स वाले गेम खेलना पसंद करते  है।

लेकिन यदि हम कुछ सालों पहले की बात करे तो तब ऐसा नही था। तब सिर्फ ऐसे मोबाइल फ़ोन थे जिसमें आप सिर्फ किसी को कॉल कर सकते थे या फिर किसी का कॉल उठा सकते थे। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है दुनिया में Mobile का अविष्कार किसने किया था। मोबाइल फोन को किस इंजीनियर ने बनाया था। दुनिया का पहला मोबाइल फोन किस कंपनी ने लांच किया। इसकी कीमत कितनी थी। दुनिया के पहले मोबाइल फोन का बैटरी बैकअप कितना था। भारत में मोबाइल फोन कब आया। तो चलिए जानते है Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya?

Mobile का अविष्कार किसने किया

मोबाइल का अविष्कार अमेरिकन इंजीनियर मार्टिन कूपर (Martin Cooper) ने 3 अप्रैल 1973 को किया था। इस मोबाइल का नाम Motorola Dyna TAC 8000X था। इस मोबाइल वजन करीब 1.1 किलोग्राम था। यह 9 इंच जितना बड़ा था और एक बार बार चार्ज करने के बाद इस फ़ोन से 30 मिनट तक कालिंग की जा सकती थी। इस फ़ोन को चार्ज होने में 10 घण्टे लगते थे। दुनिया के इस पहले फोन की कीमत 2700 अमेरिकी डॉलर यानी कि करीब 2 लाख रुपये थी।

मार्टिन कूपर ने 1970 में मोटोरोला को जॉइन किया था। जिन्हें टेलीकॉम इंडस्ट्री में काफी रूचि थी। मार्टिन कूपर यह मोटोरोला कंपनी में एक इंजीनियर थे और वायरलेस कम्युनिकेशन डिवाइसेस बनाने की काफी कोशिश करते थे। वह इस तकनीकी का उपयोग करते हुए एक टेलीफोन जैसा उपकरण बनाना चाहते थे जिसमे कोई केबल ना हो। यह पहला मोबाइल इंटरनेशनल कंपनी मोटोरोला का था जो आज भी अपने मोबाइल बनाती है।

मार्टिन कूपर कौन थे?

मार्टिन कूपर का जन्म 26 दिसंबर 1928 को अमेरिका के शिकागो शहर में हुआ था। मार्टिन कूपर एक इंजीनियर थे। लेकिन मार्टिन के माता पिता पहले यूक्रेन में रहते थे मार्टिन कूपर ने अमेरिका में रहकर 1950 को अपनी डिग्री हासिल की जो कि इलेक्ट्रिकल इंजीनियर की डिग्री थी। इस डिग्री के बदौलत उन्हें सबमरीन अफसर की नौकरी भी लगी थी।

लेकिन कुछ सालों बाद मार्टिन कूपर फिर पढ़ने लगे और उन्होंने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री भी हासिल कर ली और फिर वह शिकागो के टेलीटीपी कंपनी में जॉब करने लगे। फिर कुछ समय बाद उन्होंने इस कंपनी में अपना इस्तिफा दे दिया और मोटोरोला कंपनी में जॉइन हुए और यही पर उन्होंने 1973 में मोबाइल का अविष्कार किया।

भारत देश मे पहला मोबाइल फ़ोन कब आया था?

भारत में पहला मोबाइल फ़ोन 31 जुलाई 1995 में लॉन्च किया गया था। आपको जानकर हैरानी होगी कि उस समय 31 जुलाई को सबसे पहले भारत के केंद्रीय दूरसंचार मंत्री सुख राम जी ने वेस्ट बंगाल के मुख्यमंत्री ज्योति बसु जी से बात की थी। दुनिया में  सबसे पहले मोबाइल मोटोरोला कंपनी ने लॉन्च किया था और यह पहला मोबाइल फ़ोन मार्किट में 1983 में लॉन्च किया गया था। पर यह फ़ोन सभी देशों के लिए उपलब्ध नही था, तब कंपनी ने केवल अमेरिकी मार्किट के लिए ही उपलब्ध करवाया था।

आज के समय में भारत मोबाइल इस्तेमाल करने वाला दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है। तब से लेकर अब तक भारत में मोबाइल इस्तेमाल करने वालों की संख्या 120 करोड़ तक पहुँच गयी है। आने वाले समय में भारत में मोबाइल फ़ोन इस्तेमाल करने वालों की संख्या काफी तेज़ी से बढ़ेगी।

भारत में पहली मोबाइल सेवा किसने शुरू की 

भारत में मोबाइल सेवा प्रारम्भ करने का प्रयास साल 1994 के मध्य से ही भारत के उद्यमी भूपेन्द्र कुमार मोदी द्वारा किया जाने लगा था। उन्हीं की कंपनी ‘Modi Telstra’ ने देश में पहली बार मोबाइल सेवा का प्रारम्भ किया तथा पहला मोबाइल कॉल  इसी कंपनी के नेटवर्क (जिसे मोबाइल नेट कहा जाता था) पर कोलकता से दिल्ली किया गया था। इसी कंपनी को आगे चलकर ‘Spice Mobiles’ के नाम से जाना गया।

मोबाइल फ़ोन का इतिहास

साल 1973 में मोटोरोला कंपनी और मार्टिन कूपर ने मिलकर पहला सेलुलर फ़ोन निर्माण किया। यह फ़ोन एक कीपैड फ़ोन था जिसके ऊपर एक ऐन्टेना लगा हुआ था। इसके बाद साल 1983 में इस मोबाइल फ़ोन में कई बदलाव लाकर इसे अमेरिका के मार्किट में लांच किया गया और इस फ़ोन का वजन था 2 पौंड और हाइट 9 इनचेस था। इसके बाद  साल 1979 में पहला ऑटोमेटेड सेलुलर नेटवर्क जापान में शुरू किया गया और इसी को हम फर्स्ट जनरेशन 1 G नेटवर्क रखा गया । साल 1991 में पहला सिम कार्ड बनाया गया गैसेकि और देवरिएंट नामक इंजिनीर्स ने मुनिच कार्ड मेकर के एक नेटवर्क कंपनी के लिए बनाया था। साल 1991 में 2G नेटवर्क फ़िनलैंड शहर के रदिओलिंजा कंपनी ने बनाया था। साल 1993 में IBM कंपनी ने पहला स्मार्टफोन बनाई और इसका नाम IBM SIMON रखा गया।

यह एक स्मार्टफोन था जिसमें फैक्स मशीन, कैलेंडर, एड्रेस बुक, एप्प्स, ईमेल, कैलकुलेटर सेवाए दी गई। इसके बाद साल 1996 में  मोटोरोला ने स्टार टैक् नामक मोबाइल बनाई। सके बाद साल 1997 में पहले कैमरा वाला फ़ोन बनाया गया। साल 1999 में Nokia ने IBM साइमन मोबाइल के सामने अपनी स्मार्टफोन Nokia 9000 मोबाइल बनाई गई साल 1999 में  पहली बार इंटरनेट की शुरुवात हुई NTT डोकोमो जापान में किया गया। साल 2002 में 3G नेटवर्क का निर्माण हुआ और साल 2008 में 4G नेटवर्क का अविष्कार हुआ। साल 2008 में गूगल कंपनी ने एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम में चलने वाली फोन का निर्माण किया और सबसे पहला एंड्राइड फ़ोन था एंड्राइड स्मार्टफोन एचटीसी।

तो अब आप जान गए होंगे कि Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya हमने आपको Mobile का अविष्कार किसने और कब किया था? इसके बारे में जानकारी दी। मोबाइल का अविष्कार अमेरिकन इंजीनियर मार्टिन कूपर (Martin Cooper) ने 3 अप्रैल 1973 को किया था। इस मोबाइल का नाम Motorola Dyna TAC 8000X था। इस मोबाइल वजन करीब 1.1 किलोग्राम था। उम्मीद है की आपको इस आर्टिकल में सारी जानकारी मिल गई होगी।

ये भी पढ़े-