ATM Full Form | ATM का फुल फॉर्म क्या है?

आज आप इस आर्टिकल में जानेंगे कि ATM Full Form क्या है? आज के समय में सभी काम डिजिटल होने के कारण लोगों का समय बर्बाद होने से बचता है जब से ATM मशीने लग गई है तब से लोगों को बैंको में लाइन नहीं लगानी पड़ती है पहले के समय जब ATM मशीने नहीं थी तब लोगों को पैसे निकलने के लिए बैंको में लंबी लाइन लगाना पड़ती थी इसके बाद लोगों को पैसे मिलते है। आज ATM मशीने लगने से आपको बैंको के चक्क्रर नहीं काटने पड़ते और आज आपको आदि रात में भी पैसों की जरूरत हो तब भी आप पैसे बड़ी आसानी से निकाल सकते है। लोगों की जरूरत को देखते हुए सरकार ने ATM मशीने सभी जगह लगा दी है चाहे आप शहर में हो या गाव हर जगह आप किसी भी समय एटीएम से पैसे निकल सकते है।

आपने भी ATM मशीन का यूज़ जरूर किया होगा पर आपने कभी ये सोचा है ATM का फुल फॉर्म क्या है? आज हम आपको ATM के फुल फॉर्म के अलावा ATM की बहुत सी जानकरी देंगे। आइए जानते हैं कि ATM Full Form क्या है?

ATM Full Form

ATM Full Form

आपको बता दे ATM का फुल फॉर्म “Automated Teller Machine“ होता है और हिंदी में “स्वचालित गणक मशीन” कहा जाता है। आपको बता दे अलग-अलग देशों में ATM को अलग-अलग नाम से जाना जाता है जैसे कनाडा में ATM को ABM (Automatic Banking Machine) कहते है और अन्य देशों में कैश पॉइंट कहा जाता है और कई देशों में इसे Hole in the Wall भी कहा जाता है। आपको बता दे दुनिआभर में जितने भी एटीएम लगे है उनकी एक संयुक्त रूप से एक संस्था बनाई गई है जिसका नाम ATMIA है। जिसका फुल फॉर्म ATM इंडस्ट्री एसोसिएशन है इसकी स्थापना वर्ष 1997 में हुई थी। इस एसोसिएशन का मुख्यालय संयुक्त राज्य अमेरिका में है। 

इस संस्था को इसलिए स्थापित किया गया है ताकि कही भी एटीएम मशीन में कोई प्रॉब्लम आती है उसको ठीक किया जा सके। ये संस्था पुरे दुनिआ में लगे एटीएम मशीन का पूरा डाटा अपने पास रखती है। आपको बता दे पूरी दुनिया में लगभग 35 लाख से ज्यादा ATM लगे हुए है।

ATM क्या होता है?

एटीएम एक तरह की मशीन है। जिसमें कोई भी व्यक्ति अपने ATM Card के जरिए पैसे निकाल सकता है। ATM Card एक तरह का प्लास्टिक कार्ड होता है जो खाताधारकों को बैंक की तरफ से दिया जाता है। बैंक हमें डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड देती है जिसका यूज़ करके हम ATM मशीन से पैसे निकाल सकते है। सबसे पहले हमें ATM कार्ड को एटीएम के अंदर डालना होता है। इसके बाद आपको बैंक की तरफ से एटीएम का पिन दिया जाता है तो एटीएम के साथ आता है उसे डालना होता है इसके बाद आपको जितने पैसे निकालने है उसे डालने के बाद आपको आपके पैसे मिल जाते है। आपको बता दे इन Debit Card और Credit Card का यूज़ आप पैसे निकलने के साथ-साथ ऑनलाइन शॉपिंग, मोबाइल रिचार्ज और भी बहुत से काम कर सकते है। 

ATM के कार्य

  • ATM से आप पैसे निकल सकते है।   
  • एटीएम से आप पैसे जमा कर सकते है।   
  • ATM से आप अपने पैसो का विवरण पता कर सकते है।   
  • एटीएम से आप पैसों का स्टेटमेंट निकला सकते है।   
  • ATM से आप ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते है।   
  • एटीएम से आप मोबाइल रिचार्ज कर सकते है। 

ATM के फायदे

  • एटीएम का सबसे बड़ा फायदा आपको अपने साथ पैसे रखने के जरूरत नहीं होती है। 
  • ATM के जरिये आप अपने खाते में कितने पैसे जमा है इसका पता लगा सकते है।    
  • एटीएम का सबसे बड़ा फायदा आप कभी भी दिन हो या रात में पैसे निकल सकते है। 
  • आप कही भी हो शहर या गाव आप एटीएम से आसानी से पैसे निकला सकते है। 

एटीएम के नुकसान

  • आप एटीएम से 50,000 से ज्यादा पैसे एक दिन में नहीं निकला सकते है। 
  • अगर आपका ATM Card खो जाये तो आपके कार्ड का कोई भी दुरुपयोग कर सकता है। 
  • एक से ज्यादा बार पैसे निकलने पर आपको चार्ज देना पड़ता है। 
  • एटीएम में नकदी खत्म हो जाने पर आपको पैसे की दिक्कत हो सकती है। 

ATM का आविष्कार किसने किया था

एटीएम के अविष्कार का श्रेय लूथर जॉर्ज सिमियल को दिया जाता है। साल 1961 में सिटी बैंक को न्यूयॉर्क में दुनिया का सबसे पहला ATM लगाया गया था उस समय ATM को बैंकोंग्राफ नाम से जाना जाता था। उस समय लोग इस एटीएम पर भरोसा नहीं करते थे जिसके कारण इस ATM को 6 महीने बाद हटा दिया था। इसके बाद 1966 में जापान में एक ATM लगाया गया जिससे वह लोगों का समय बचने लगा बैंको में भीड़ कम लगने लगी जिसे देखते हुए जापान के अन्य बैंको ने भी एटीएम लगाने शुरू कर दिए।

तो अब आप जान गए होंगे कि Atm Full Form क्या है? आपको बता दे ATM का फुल फॉर्म “Automated Teller Machine“ होता है और हिंदी में “स्वचालित गणक मशीन” कहा जाता है। उम्मीद है की आपको इस आर्टिकल में ATM के बारे में सारी जानकारी मिल गई होगी। 

ये भी पढ़े-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here