कंप्यूटर का आविष्कार किसने और कब किया?

आज आप इस आर्टिकल में जानेंगे कि Computer Ka Avishkar Kisne Kiya आज के समय में कंप्यूटर का इस्तेमाल पूरी दुनिया में किया जाता है। कंप्यूटर आज हमारे जीवन की दैनिक जरूरत बन चुका है। लोग अपने हर छोटे कामों को करने के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल करते है। जबसे कंप्यूटर का आविष्कार हुआ है तब से मनो पूरी दुनिया बदल गई है। आज कंप्यूटर आपको चाहे सरकारी बैंक हो या फिर Private Office हर जगह देखने को मिल ही जायेगा कंप्यूटर में आप अपना किसी भी टाइप का डाटा स्टोर कर सकते है। इन्टरनेट से अलग अलग जानकारी हासिल कर सकते है। कंप्यूटर ने हमारे जीवन को आसान बना दिया है बड़ी से बड़ी प्रॉब्लम मिनट में हल कर सकते है। कंप्यूटर एक ऐसी डिवाइस है जो हार्डवेयर और सॉफ्टवेर दो चीजो से चलता है।

कंप्यूटर एक Electronic Device है जो यूजर द्वारा दिए गए इनपुट को प्रोसेस करके सूचनाओं को रिजल्ट के रूप में प्रस्तुत करता है। कंप्यूटर के बिना आज के जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती। आज जीवन के हर क्षेत्र में कंप्यूटर के द्वारा सारे काम किये जाते हैं। Computer शब्द लेटिन शब्द से लिया गया है। जिसका मतलब होता है गणना करना मतलब की शुरू में जिन Computer का आविष्कार किया गया था वह सिर्फ गणना करने तक ही सीमित थे जिस कारण Computer को हिंदी में संगणक कहाँ जाता है।

आपको बता दे कंप्यूटर कई प्रकार के होते हैं। अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग प्रकार के कंप्यूटर का इस्तेमाल होता है। कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम भी कई प्रकार के होते हैं लेकिन जो मुख्य रूप से ऑपरेटिंग सिस्टम इस्तेमाल होता है वह है Window, Mac और Linux आमतौर पर हमारे घरों में जो कंप्यूटर होता है उसमे Window इस्तेमाल होता है। आप भी कंप्यूटर का इस्तेमाल करते होंगे पर क्या आपने कभी सोचा है कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया? कंप्यूटर के कई प्रकार के अनुसार ही इनके कार्य करने की क्षमता भी अलग-अलग होती है। और कंप्यूटर में मौजूद इन पार्ट्स को किसी एक व्यक्ति ने नहीं बल्कि अलग-अलग व्यक्तियों द्वारा मिलकर बनाया है।इसलिए कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया है। इसका सीधा जवाब देना थोड़ा कठिन हो जाता है। आइए जानते हैं कि Computer Ka Avishkar Kisne Kiya?

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया 

कंप्यूटर का आविष्कार Charles Babbage ने किया था। इन्हें कंप्यूटर का जनक कहा जाता है। 1822 में Charles Babbage नें “डिफरेंशिअल इंजन” नाम के मैकेनिकल कंप्यूटर का आविष्कार किया था। इसके बाद 1938 में United States Navy ने इलेक्ट्रो मैकेनिकल कंप्यूटर बनाया था। जिसका नाम टारपीडो डाटा कंप्यूटर (Torpedo Data Computer) था। इसके बाद 1939 में Konrad Zuse ने Z2 कंप्यूटर बनाया। जिसमे पहली बार वैक्यूम ट्यूब्स का इस्तेमाल किया गया। ये सबसे पहला Electromechanical Relay कंप्यूटर था। इसके बाद में Z3 कंप्यूटर बनाया गया जिसमें लगभग 2000 रिले का इस्तेमाल किया गया। बेल लेबोरेटरीज में 1947 में का ट्रांजिस्टर आविष्कार किया है। ट्रांजिस्टर एक स्विच की तरह काम करता है जो की सर्किट को ON या Off कर सकता है और ये एम्पलीफायर की तरह भी काम करता है। ट्रांजिस्टर के आने से कंप्यूटर की दुनिया में बहुत ज्यादा बदलाव आया पहले  जो कंप्यूटर थे उनका साइज बहुत बड़ा था लेकिन ट्रांजिस्टर से उन्ही कंप्यूटर का साइज बहुत छोटा हो गया।

Computer Ka Avishkar Kisne Kiya

Electronic Computer का आविष्कार किसने किया था?

दुनिया के सबसे पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का अविष्कार सन 1945 में John Vincent Atanasoff, J. Presper Eckert, एवं John Mauchly ने किया। इसे बनाने और डिजाइन करने का पूरा खर्च US मिलिट्री के द्वारा वहन किया गया था। ENIAC (Electronic Numerical Integrator and Computer) का आविष्कार उन्होंने university of Pennsylvania में किया था। ये कंप्यूटर लगभग 1800 वर्ग फिट में फेल हुआ था। 200 किलोवाट की इलेक्ट्रिक पावर, लगभग 70000 राजिस्टर्स, 10000 कैपेसिटर ओर 18000 वेक्यूम ट्यूब लगे हुए थे।

Programmable Computer का आविष्कार किसने किया?

सन 1938 में German Civil Engineer, Konrad Zuse ने दुनिया का पहला Freely Programmable binary driven mechanical computer का आविष्कार किया था। उन्होंने इसका नाम Z1 रखा था। Konrad Zuse को बहुत लोग Modern Computer का जनक भी मानते हैं।

Commercial Computer का आविष्कार किसने किया?

दुनिया का सबसे पहला Commercial Computer का आविष्कार 1951 में हुआ था जिसका नाम UNIVAC रखा गया। यूनीवैक का पूरा नाम “यूनिवर्सल ऑटोमेटेड कंप्यूटर” था। Commercial कंप्यूटर्स को Industrial Computers भी कहा जाता है। ये पहला Commercial Computer था जो की दोनों numerical और alphabetic को manage कर सकने में सक्षम था। इसे भी J. Presper Eckert और John Mauchly, के द्वारा Design किया गया था।

Electronic Digital Computer का आविष्कार किसने किया?

सन 1937 में दुनिया का सबसे पहला Electronic Digital Computer Dr.John V. Atanasoff और Clifford Berry के द्वारा आविष्कार किया गया था। उन्होंने इसका नाम Atanasoff-Berry Computer (ABC) रखा था।

Personal Computer का आविष्कार किसने किया?

Personal Computer को सन 1975 में Introduce किया गया था। Ed Robert ने ही इसका नाम सबसे पहले “Personal Computer” और PC दुनिया के सामने appear हुआ 3 November 1962 में जब Altair 8800 को introduce किया गया।

Personal Desktop Computer का आविष्कार किसने किया?

पूरी दुनिया में सबसे पहला Desktop Personal कंप्यूटर Italian Company Olivetti ने 1964 में बनाया था। उन्होंने इसकी कीमत $3,200 रखी थी। जो की आज के हिसाब से लगभग 2 लाख रूपए है। सन 1985 में Atari Corporationने 520ST कंप्यूटर बनाया। ये एक 32 बिट का रंगीन कंप्यूटर था और इसमें 256 Kb RAM थी और 3 1⁄2-Inch की एक Floppy Disks थी जो की स्टोरज का काम करती थी।

लैपटॉप का आविष्कार किसने किया?

Laptop का आविष्कार Adam Osborne ने सन 1981 में किया था। पहला laptop का नाम रखा गया “Osborne 1” जो की इसके आविष्कारक के नाम पर रखा गया। उस समय इसकी कीमत लगभग $1500 थी। इसमें इसकी ही बहुत सी Program Pre-Installed थी और साथ में एक छोटी Computer Screen भी बनी हुई थी।

सुपर कंप्यूटर का आविष्कार कब हुआ?

Super Computer उन Computers को कहा जाता है जिनकी काम करने की क्षमता बहुत ही High Level पर और बहुत तेज होती है। इन Computer में से हजारों Processors होते हैं जिससे कि इसकी काम करने की Speed सबसे Highest और Fastest होती है। Super Computers को खासतौर पर Scientific या फिर Engineering Field के काम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। आमतौर पर इन Computer का इस्तेमाल घर या Office में नहीं किया जाता।

इन Computer को Specially Science के Field में मुश्किल से मुश्किल Problems को Solve करने के लिए Design किया गया है। Super Computer को सबसे पहले 1960 में Seymour Roger Cray द्वारा Introduce किया गया था। इस Supercomputer का नाम CDC 6600 था। इस कंप्यूटर को Control Data Corporation और Cray Research में Invent किया गया था। Seymour Cray ने 1920 से ही इस कंप्यूटर की Design के लिए काम करना शुरू की कर दिया था, जिसमें Sperry Rand भी उनके साथ थे।

भारत का पहला कंप्यूटर कहां स्थापित किया गया था?

भारत में सबसे पहले कंप्यूटर सन 1952 में Dr.Dwijish Dutta द्वारा कोलकाता में भारतीय विज्ञान संस्थान के अन्दर लाया गया था। यह एक एनालोंग कंप्यूटर (Analog Computer) था। सन 1956 में कोलकाता भारतीय विज्ञान संस्थान के अन्दर डिजिटल कंप्यूटर HEC – 2M लगाया था यह भारत का पहला इलेक्ट्रोनिक कंप्यूटर था। फिर सन 1958 में “URAL” नामक का एक कंप्यूटर भारतीय सांख्यिकी संस्थान कोलकाता में लगाया गया जो आकार में HEC – 2 M से भी बड़ा था इस कंप्यूटर को रूस से खरीदा गया था और सन, 1964 में इन दोनों कंप्यूटर का इस्तेमाल बंद कर दिया। क्योकि उस समय IBM ने अपना पहला कंप्यूटर IBM 1401 भारतीय सांख्यिकी संस्थान कोलकाता में लगाया, जो IBM 1400 सीरीज का पहला कंप्यूटर था जो एक डाटा प्रोसेसिंग सिस्टम कंप्यूटर था।

भारत मे कंप्यूटर का आविष्कार कब हुआ?

सन 1966 में भारत की दो संस्थाओं भारतीय सांख्यिकी संस्थान तथा जादवपुर यूनिवर्सिटी द्वारा मिलकर भारत के अन्दर पहला कंप्यूटर बनाया इसका नाम ISIJU रखा गया। HEC–2M तथा ISIJU में एक अंतर था URAL HEC – 2M तथा URAL दोनों ही वैक्यूम ट्यूब युक्त कंप्यूटर थे जबकि ISIJU एक ट्रांजिस्टर युक्त कंप्यूटर था।

भारत का Super Computer कौन सा है और किसने बनाया?

भारत का पहला सुपर कंप्यूटर ‘PARAM 8000” था। PARAM का Full Form है “Parallel Machine” । इस Computer को सन 1991 में Centre for Development of Advanced Computing (C-DAC) के द्वारा develop किया गया था। इसमें Architect Vijay P.Bhatkar का बहुत बड़ा योगदान था। उन्होंने PARAM 8000 को सन 1991 में और PARAM 10000 को सन 1998 में बनाया था।

तो अब आप जान गए होंगे कि Computer Ka Avishkar Kisne Kiya कंप्यूटर का आविष्कार Charles Babbage ने किया था। इन्हें कंप्यूटर का जनक कहा जाता है। सन 1966 में भारत की दो संस्थाओं भारतीय सांख्यिकी संस्थान तथा जादवपुर यूनिवर्सिटी द्वारा मिलकर भारत के अन्दर पहला कंप्यूटर बनाया इसका नाम ISIJU रखा गया।

ये भी पढ़े-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here